रविवार, 21 जून 2009

अब बहाना नहीं

बहुत दिनों के बाद आज ब्लाग पर हूं। अब कोशिश होगी कि नियमित रूप से रहूं। ऐसा वादा हालांकि मैं पहले भी कर चुका हूं। लेकिन खरा नहीं उतर पाया। इस बार कोशिश होगी कि अब ऐसा न हो। इसका एक कारण यह भी था कि अभी तक ब्लागिंग के लिए मेरे पास अपना कंप्यूटर या लैपटाप नहीं था। लेकिन अब मैंने लैपटाप खरीद लिया है। इसलिए यह बहाना भी नहीं चल पाएगा। तो इस बार बस इतना ही। कल आप सबसे लंबी बात करूंगा।

2 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

आईये, पुनः स्वागत है और नियमित लेखन के लिए शुभकामनाऐं. नये लैपटॉप की बधाई. :)

नितिन व्यास ने कहा…

पुन: स्वागत! पितृदिवस पर शुभकामनायें.